बिहारी करेजा का 7 दिवसीय E-विमर्श सफलतापूर्वक समाप्त, 50,000 से ज्यादा लोग बने चर्चा का हिस्सा - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

शनिवार, 22 अगस्त 2020

बिहारी करेजा का 7 दिवसीय E-विमर्श सफलतापूर्वक समाप्त, 50,000 से ज्यादा लोग बने चर्चा का हिस्सा

 कोरोना में सबकुछ बंद हुआ. ऐसे में ग्राउंड रिपोर्टिंग का सिलसिला भी बाधित हुआ. लेकिन जन की बात तो करनी थी. ऐसे में टीम बिहारी करेजा ने E-विमर्श, अब E-मंच से जनता की बात लाइव सीरीज का शुरुआत किया. 7 दिन, 7 एंकर, 7 गेस्ट स्पीकर, 7 महत्वपूर्ण मुद्दा, विमर्श और निष्कर्ष. बाढ़, पर्यावरण, स्वास्थ्य, हिंदी फिल्म जगत, शिक्षा, छात्र जैसे जरूरी और गम्भीर मुद्दों पर बातचीत हुई.



बिहार के डिजिटल मीडिया क्षेत्र में इस तरह का पहला आयोजन

 बिहार का डिजिटल मीडिया एकतरफ पूर्ण तरीके से राजनीति पर निर्भर है. इस बीच कई जरूरी मुद्दे सामने ही नहीं आ पाते. विमर्श और निष्कर्ष जैसा कुछ कवर ही नहीं किया जाता. इस सब से अलग यहाँ तक कि टीवी डीबेट के तीखी वार से अलग शांत और सभ्य तरीके से चर्चा को पूरा किया गया. व्यूज़ के चिंता से परे मुद्दों को महत्व दिया गया. पर लोगों ने काफी पसंद भी किया और यह चर्चा 50,000 से ज्यादा लोगों तक पहुँचा.

अलग - अलग मुद्दों पर लिंक को क्लिक करके लाइव वीडियो को देखिए :


  1. बिहार में बाढ़ का आपातकाल - स्पीकर कुमार दीपक, यूएनडीपी ऑफिसर
  2. आर्थिक संकट में ट्रांसजेंडर - स्पीकर रेशमा प्रसाद - ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट
  3. खो चुके है हम प्रसन्नता, स्वास्थ्य और इम्युनिटी, जानिए क्या है समाधान - स्पीकर रिचा रंजन, नेतुरलिस्ट
  4. हिंदी सिनेमा में कोरोना का असर : समस्या, सुझाव और समाधान
  5. नई शिक्षा नीति में नया क्या - स्पीकर डॉ अजय कुमार
  6. बिहार में गिरते शिक्षा व्यवस्था के लिए जिम्मेवार कौन
  7. क्या कोरोना काल में संभव है परीक्षा ?

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे