गर्भपात के बाद कितनी जल्दी गर्भधारण कर सकती हैं महिलाएं - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

मंगलवार, 25 अगस्त 2020

गर्भपात के बाद कितनी जल्दी गर्भधारण कर सकती हैं महिलाएं

 गर्भपात एक महिला को भावनात्मक रूप से तोड़ सकता है। एक महिला को पूरी तरह से स्वस्थ होने और फिर से गर्भवती होने में थोड़ा समय लग जाता है। गर्भपात के कुछ हफ्तों बाद ही आपका मासिक धर्म वापस सामान्य हो जाता है, इसलिए गर्भपात को लेकर कोई खास घबराने की ज़रूरत नहीं है। यहाँ देखें गर्भवती कैसे होते हैं।


 Pregnancy



गर्भपात के बाद मासिक धर्म चक्र कैसे बदलता है।

 

आपके शरीर को भ्रूण के नुकसान के बाद स्वस्थ होने के लिए समय की आवश्यकता होती है। गर्भपात के चार से छह सप्ताह बाद पीरियड्स फिर से शुरू होंगे। कुछ महिलाओं में, यह जल्दी भी शुरू हो सकता है। लेकिन, अगर उससे अधिक समय लगे तो अपने स्त्री रोग विशेषज्ञ से मिलें। गर्भपात के बाद आपकी पहले पीरियड्स में बहुत अधिक सर्विकल म्यूकस के साथ भारी रक्तस्राव हो सकता है। आप पीरियड्स में सर्विकल म्यूकस का बदला रंग और ब्लड क्लोट्स भी देख सकती हैं। आपकी माहवारी चार से सात दिनों तक हो सकती है और आप पूरे महीने में स्पॉटिंग देख सकती हैं। गर्भपात के बाद जब आप 20 दिनों के लिए लगातार ब्लीडिंग या स्पॉटिंग का अनुभव नहीं करती हैं, तो आपके पीरियड्स को फिर से नॉर्मल माना जाएगा। यदि गर्भावस्था से पहले आपकी माहवारी अनियमित थी, तो वह गर्भपात के बाद भी अनियमित रूप से जारी रहेंगी। एक अनियमित मासिक चक्र ओवुलेशन की ट्रैकिंग को और अधिक कठिन बना सकता है, लेकिन गर्भपात के बाद पहले कुछ मासिक चक्रों में फिर से गर्भवती होना संभव है।

 

गर्भपात के बाद ओव्यूलेशन में लगने वाला समय

आप गर्भपात के बाद दो सप्ताह के भीतर ओव्यूलेशन शुरू हो सकता है। यदि गर्भपात प्रेग्नेंसी की शुरुआत में हुआ हो तो लगभग एक सप्ताह में ब्लीडिंग रुक जाती है। यदि पहली या दूसरी तिमाही में गर्भपात हुआ हो तो रक्तस्राव अधिक समय तक चल सकता है। चार सप्ताह तक कुछ स्पॉटिंग भी हो सकती है। जैसे-जैसे रक्तस्राव कम होता है और हार्मोन का स्तर सामान्य हो जाता है, आपका मासिक धर्म भी फिर से शुरू हो जाता है। गर्भपात के बाद कई महिलाओं की माहवारी 4 से 6 सप्ताह के भीतर लौट आती है। जब आपके हार्मोनल स्तर सामान्य हो जाते हैं और आपके पीरियड्स लौट आते हैं, तो आप ओव्यूलेट कर सकती हैं। यदि आप गर्भावस्था की संभावनाओं को बढ़ाना चाहती हैं, तो आपको एक माहवारी के बाद फिर से गर्भवती होने की कोशिश करनी चाहिए। वैसे आप गर्भपात के बाद जल्दी गर्भधारण कर सकती हैं। बस ज्यादा तनाव न लें ।

गर्भपात के बाद ओव्यूलेशन के लक्षण

 

  • सेक्स ड्राइव में वृद्धि

  • स्तनों में संवेदनशीलता या कोमलता

  • लाइट स्पॉटिंग

  • पेट के निचले हिस्से में दर्द

  • सर्विकल म्यूकस जो स्पष्ट और गाढ़ा दिखता है

  • आपके बेसल बॉडी टेंपरेचर में मामूली वृद्धि।

 

गर्भपात के बाद ओव्यूलेशन ट्रैक कैसे करें

  • गर्भपात के बाद ओव्यूलेशन पर नज़र रखने के कुछ तरीके यहां दिए गए हैं-

  • ओवुलेशन कैलेंडर का इस्तेमाल करें

  • बेसल बॉडी टेंपरेचर पर ध्यान दें

  • अपने कर्विकल म्यूकस की जाँच करें

  • क्लिनिक में अपने एचसीजी स्तर का परीक्षण करें 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे