2018 एसएससी CGL का रिजल्ट और 2019 NTPC की परीक्षा लंबित 1 सितंबर को छत्रों और शिक्षकों का ट्विटर पर कैम्पेन - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

मंगलवार, 1 सितंबर 2020

2018 एसएससी CGL का रिजल्ट और 2019 NTPC की परीक्षा लंबित 1 सितंबर को छत्रों और शिक्षकों का ट्विटर पर कैम्पेन

 2018 से अटकी हुई एसएससी एग्जाम की रिजल्ट अभी तक जारी नहीं की गई है। जिससे देश के छात्रों में बहुत आक्रोश हैं देश के एसएससी सीजीएल जैसे प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी करने वाले छात्र और शिक्षक 1 सितंबर को एक ट्विटर कैम्पेन चलाने जा रहे हैं। जहां पर वो अपनी परेशानियों को रखेंगे।आपको बता दें कि SSC CGL की परीक्षा 4 टियर में होती है। पहले टियर में कंप्यूटर आधारित होती है दूसरे टियर में मुख्य परीक्षा तीसरे टियर में डिस्क्रिप्टिव टेस्ट और चौथे टियर में कंप्यूटर स्कील टेस्ट होता है।


SSC logo


यहाँ एसएससी और सीजीएल 2018 कि लंबित परीक्षा के फेज तीन की परीक्षा 2019 दिसंबर माह  में आयोजित की गई थी मगर उसका रिजल्ट अभी तक नहीं आया है। अभी हाल ही में कर्मचारी चयन आयोग ने अपने आधिकारिक वेबसाइट ssc. nic.in पे नोटिस जारी कर MTS ,CGL और JE  के बारे में जानकारी दी थी। कि कोविड-19 के वजह से 2018 CGL परीक्षा के रिजल्ट में समस्या आ रही है। इसके खत्म होते ही  रिजल्ट की नई तिथि जारी की जाएगी। नोटिस के मुताबिक 8 मई 2020 को रिजल्ट जारी किया जाना था। 


2019 में रेलवे में NTPC के लिए आवेदन मांगे गए थे

2019 के मार्च महीने में रेलवे में NTPC के लिए 90000 आवेदन मांगे गए थे जिसमें लगभग 1 करोड़ से ज्यादा अभ्यर्थियों ने आवेदन किया। उन्हें अभी तक परीक्षा होने का इंतजार है।


छात्र हो रहे डिप्रेशन के शिकार

छात्रों में तनाव की स्थिति उत्पन्न हो रही है। पटना से एसएससी की तैयारी करने वाले छात्र गौरव का कहना है कि उनके ऊपर बहुत दवाब है परीक्षा नहीं होने से लगातार साल बर्बाद हो रहा है गार्जियन के तरफ से भी सपोर्ट नहीं हो पा रहा है। आर्थिक समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। छात्र राहुल का कहना है कि 2018 से इंतजार कर रहे हैं अब 2020 समाप्ति की ओर है लेकिन परीक्षा नहीं हुई है। समस्या हो रही है अब कुछ भी समझना मुश्किल हो रहा है।

  प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने वाले  छात्र  ट्विटर पर 1 सितंबर को कैम्पेन चलाने जा रहे हैं। जहाँ वे अपनी परेशानीयों को रखेंगे। और शिक्षक भी इस मुहिम का हिस्सा बनकर उनका साथ देंगे।


छात्रों का मीडिया पे फूटा गुस्सा 

छात्रों का कहना है कि मीडिया के द्वारा इतनी गम्भीर मुद्दे को नहीं दिखाना दुखद है। आखिर देश के युवाओं के जीवन और भविष्य का सवाल है। 

✍️सूर्याकांत शर्मा

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

अपना सुझाव यहाँ लिखे