प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में वन सफारी,पोषक पार्क जैसे कई ड्रीम परियोजनाओं का उद्घाटन किया - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

रविवार, 1 नवंबर 2020

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात में वन सफारी,पोषक पार्क जैसे कई ड्रीम परियोजनाओं का उद्घाटन किया

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिन के गुजरात दौरे पर पर्यटन से जुड़े कई परियोजनाओं का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने 17 एकड़ में फैले आरोग्य वन का उद्घाटन किया। इसके अलावा प्रधानमंत्री द्वारा एकता मॉल, बच्चों के लिए पोषक पार्क,सरदार पटेल प्राणी उद्यान में 'जंगल सफारी',एकता क्रूज और साबरमती पे सी-प्लेन,कैक्टस गार्डेन,एकता नर्सरी,बटरफ्लाई पार्क समेत 17 परियोजनाओं का उद्घाटन और चार नई परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया।


Narendr Modi opening Aarogya Forest

गुजरात सरकार द्वारा नर्मदा जिले के केवड़ीया कॉलोनी को विश्व स्तर की पर्यटन स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है। राज्य सरकार एक हजार करोड़ की लागत खर्च कर स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के 100 किलोमीटर के रेडियस में 24 से ज्यादा प्रोजेक्ट को पूरा करेगी। इस प्रोजेक्ट में आदर्श गाँव भी सम्मिलित है। उस गाँव में 400 मकान होंगे।


1. आरोग्य वन

30 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के नर्मदा जिले के केवड़ीया पहुंचे वहाँ 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' के समीप बने आरोग्य वन का उद्घाटन और जायजा भी लिया। उनके साथ गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और राज्यपाल आचार्य देवव्रत भी मौजूद थे। आरोग्य वन में 15 एकड़ में औषधी के पौधे लगाए गए हैं इसमें 385 प्रजाति के पांच लाख पौधे लगाए गए हैं। इस वन का विकास आयुर्वेद और योग को ध्यान में रखकर किया गया है। प्रधानमंत्री ने इस वन में बने योग कुटीर का भी जायजा लिया। यह वन अच्छे स्वास्थ्य के पारंपरिक तरीकों और पुष्प पारंपराओं पे आधारित है। 1 लाख 90 हजार कैक्टस के पौधे लगाए गए हैं।


Aarogya Van (Gujrat)

2. जंगल सफारी 

जंगल सफारी एक प्राणी उद्यान है। जो आधुनिकता से लैस है। यह समुद्र तल से 29 मीटर से लेकर 180 मीटर ऊपर बसा हुआ है। यह प्राणी उद्यान 375 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है। यह जंगल सफारी काफी तेजी से निर्माण की जाने वाली जंगल सफारी में से एक है। इस उद्यान में 1100 से अधिक पशु-पक्षी हैं। इस उद्यान में दो पक्षी  अभ्यारण्य हैं। एक जिसमें घरेलू पक्षियां और दूसरे में विदेश से आने वाली पक्षियाँ रहेंगी। यह दुनिया की सबसे बड़ा पक्षी उद्यान है। यहाँ मकाउ कोकाटू,गिनिया पिग,रैबिट, तोता आदि पक्षी-पशुओं को अटखेलियाँ करते हुए देखा जा सकता है। प्रधानमंत्री के उद्घाटन करने के साथ शुक्रवार को इसे जनता के लिए खोल दिया गया। प्रधानमंत्री इस अभ्यारण्य में पक्षियों को हाँथो पे बैठा निहारते दिखे।


Jungle Safari(Gujarat)

3. एकता मॉल

प्रधानमंत्री ने इस मॉल का उद्घाटन शुक्रवार को किया इसे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के समीप बनाया गया है। यह  35000 वर्ग फुट में फैला है। यह मॉल पर्यटकों के लिए इसलिए खास है। क्योंकि यहाँ एक छत के नीचे कई राज्यों से सम्बंधित हस्तशिल्प उत्पाद पर्यटक खरीद सकते हैं। प्रधानमंत्री गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी के साथ मॉल के विभिन्न विक्रय केंद्रों का जायजा लिया। इस मॉल में 20 विक्रय केंद्र हैं जो विभिन्न राज्यों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस मॉल का निर्माण सिर्फ 110 दिन में पूरा किया गया है।


Ekta Mall (Gujarat)

4. चिल्ड्रन न्यूट्रिशन पार्क(पोषक पार्क)

यह दुनिया का पहला टेक्नोलॉजिकल बेस्ड पार्क है। जो 35000 वर्गफुट में फैला हुआ है। यहां विभिन्न तरह के स्टेशन अन्नपूर्णा,पोषण पुराण,फलशाखा गृहम,स्वस्थ भारत,पयोनागिरी नाम दिए गए हैं। इन स्टेशनों की सैर करने के लिए एक न्यूट्री ट्रेन की व्यवस्था की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसके उद्घाटन के बाद इस ट्रेन की सवारी करते हुए इन तमाम स्टेशनों का निरीक्षण किया। इस पार्क का मकसद यह है कि विभिन्न गतिविधियों के जरिए पौष्टिक भोजन के प्रति जागरूक करना। इस पार्क में रियल्टी थिएटर,5डी वर्चुअल, मिरर मेज, और ऑग्मेंटेंड गेम की सुविधा की गई है। जो बच्चों को एक खास अनुभव देगा।


Nutrition Park(Gujarat)

5. एकता क्रूज सेवा

प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को इसका उद्घाटन किया। उन्होंने मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और राज्यपाल आचार्य देवव्रत  के साथ इस जहाज के जरिये 'स्टैच्यू ऑफ यूनिटी' तक का सफर तय कर खूबसूरत नजारे का अवलोकन किया। इस जहाज के जरिये पर्यटक नर्मदा में श्रेष्ठ भारत भवन से स्टैच्यू ऑफ यूनिटी तक का सफर तय करेंगे जिसकी दूरी 6 किलोमीटर है। इस सफर को पूरा करने में 40 मिनट लगेगा। इस जहाज पर एक बार में अधिकतम 200 यात्री सफर कर पाएंगे। इसके जरिए पर्यटक स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के खूबसूरत नजारे का लुफ्त बोटिंग करते हुए उठा सकेंगे। बोटिंग  सेवाओं के लिए ही गोरा पूल का निर्माण  खास तौर पर किया गया है।


Ekta Cruise(Gujarat)

6.  सी प्लेन का उद्घाटन

देश की पहली सी प्लेन का उद्घाटन शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। और सी प्लेन से वह केवड़ीया से साबरमती रिवरफ्रंट पहुंचे। यह सी प्लेन साबरमती रिवरफ्रंट को स्टैच्यू ऑफ यूनिटी केवड़ीया से जोड़ती है। यह प्लेन 300 मीटर लम्बे जलाशय में उतर सकता है और इतने ही लम्बे रनवे से उड़ान भी भर सकता है। इसमें एक बार मे 19 यात्रियों के बैठने की सुविधा है। फिलहाल इसके 12 सीटों का इस्तेमाल किया जा रहा है। यह काफी हल्का और कम इंधन में भी उड़ान भरने में सक्षम है। इस सी प्लेन का वजन 3,377 किलोग्राम है। यह एक घण्टे की उड़ान में लगभग 272 लीटर इंधन खपत करता है। इसमें कुल 1,419 लीटर इंधन भरा जा सकता है। इस सी प्लेन की सहायता से साबरमती से केवड़ीया पहुंचा जा सकेगा। यह शनिवार से देश को समर्पित कर दिया गया। इसका किराया 1500 रखा गया है। इससे 4 घण्टे की दूरी मात्र 40 से 45 मिनट में पूरी की जा सकेगी। यह पानी और जमीन दोनों से उड़ान भरने में सक्षम है। इस विमान का निर्माण कनाडा में किया गया है और इसे स्पाइस जेट द्वारा मालदीव से खरीद कर यहाँ लाया गया है।


Sea Plane

7.  एक अरब लाइटों से सजावट

दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के इर्द- गिर्द 25 किलोमीटर तक डेकोरेटिव लाइटों से सजाया गया है। इतने क्षेत्र को सजाने के लिए 1 अरब आकर्षक लाइटों  का इस्तेमाल किया गया है।


Maan Sarover Dam

प्रधानमंत्री का पशु-पक्षी प्रेम

प्रधानमंत्री का पक्षियों से लगाव कोई नया नहीं है। कुछ समय पहले दिल्ली लोककल्याण मार्ग स्थित प्रधानमंत्री आवास पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक मोर को दाना खिलाते एक फोटो नजर आ रहे थे। यह फोटो खूब वायरल हुआ था। एक बार फिर वह जब जंगल सफारी के पक्षीशाला में उद्घाटन के बाद भ्रमण कर  रहेे थे। तब वह एक तोते के समूह के पास गए और उसे अपने हाँथो पे बैैठा काफी वक्त तक निहारते दिखे। इस दौरान  एक  दिलचस्प वाक्या भी हुआ जब दोनो तोते को उनकेे हाँथो से उतारा जा रहा था तब एक  तोता  उनकेे हाँथो से नहीं उतर रहा था। कुछ दूर पे एक रंग-बीरंगी पक्षी को प्रधानमंत्री ने अपने हाँथो पे बैैठा उसेे खाना भी खिलाया।



प्रधानमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल के 145वीं जयंती पे स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पर श्रद्धांजलि अर्पित की फिर वह गुजराती सिनेमा के दिग्गज कलाकार महेश नरेश कनोडिया के घर पहुंचे और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की ।प्रधानमंत्री ने कहा की महेश नरेश की जोड़ी अमर हो गई है। दो भाइयों के बीच अटूट प्रेम समाज के लिए हमेशा प्रेरणा स्रोत रहेगा। गुजरात में लोग उनका नाम गर्व से लिया करेंगे। कुछ दिन पहले दोनों का निधन हो गया था। महेश कनोडिया गुजराती लोक संगीत के महान कलाकार थे। और नरेश कनोडिया गुजराती सिनेमा के महानायक हो गए थे। गुजराती लोक संगीत और गुजराती सिनेमा में दोनों भाईयों की जोड़ी को भरपूर प्यार मिलता था और यह किसी भी फिल्म के सफल होने की गायरेंटी थे। बीते 25 अक्टूबर को महेश कनोडिया का लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया था तथा 27 अक्टूबर को नरेश कनोडिया का निधन हो गया था। महेश कनोडिया राज्य सभा के सदस्य भी रह चुके थे। और नरेश कनोडिया गुजरात विधानसभा के सदस्य रह चुके थे।

✍️✍️ सूर्याकांत शर्मा ✍️✍️














कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे