रोहित की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने पांचवीं बार आईपीएल के खिताब को अपने नाम किया - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

बुधवार, 11 नवंबर 2020

रोहित की कप्तानी में मुंबई इंडियंस ने पांचवीं बार आईपीएल के खिताब को अपने नाम किया

मंगलवार को दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम में आईपीएल के खिताबी जंग में मुंबई ने दिल्ली को पांच विकेट से शिकस्त दी। मुंबई के तरफ से रोहित शर्मा ने 68 रनों की कप्तानी पारी खेली वहीं ईशान किशन ने नाबाद 33 रनों का योगदान दिया।

Rohit Sharma Mumbai Indians

दिल्ली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट के नुकसान पर 156 रन बनाए जवाब में मुंबई ने पांच विकेट खोकर 157 रन बना जीत हासिल कर ली। दिल्ली की शुरुआत बिल्कुल अच्छी नहीं रही ओवर के पहली ही गेंद पर मार्क्स स्टोइनिस बिना खाता खोले ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर क्विनटन डिकॉक को कैच दे बैठे। उसके बाद अजिंक्य रहाणे भी 2 रन बनाये। एक समय दिल्ली ने 22 रनों पर तीन विकेट खो दिए थे। उसके बाद ऋषभ पंत 56 और श्रेयस अय्यर 65 ने दिल्ली को संभाला। पंत ने अपनी पारी के दौरान चार चौके और दो छक्के लगाए वही श्रेयस अय्यर ने छह चौके और दो छक्के लगाए। दिल्ली को 157 रनों के स्कोर तक पहुंचाया। दिल्ली के तरफ  नॉर्टजे को दो,स्टोइनिस को एक और रबाडा को एक विकेट मिले। लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई के तरफ से रोहित और डिकॉक ने पहले विकेट के लिए 45 रनों की साझेदारी की। रोहित ने पांच चौके और चार छक्के की मदद से 68 और डिकॉक ने 20 रनों की पारी खेली। इनके अलावा ईशान किशन ने भी तीन चौके और एक छक्के की मदद से 33 रनों की अहम पारी खेली। मुंबई के तरफ से बोल्ट ने 3, कूल्टर नाइल 2 और जयंत यादव को एक विकेट मिले।

धवन और बुमराह फ्लॉप

दिल्ली के तरफ से शिखर धवन लंबी पारी नहीं खेल सके और मात्र 15 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। जसप्रीत बुमराह से भी विकेट की उम्मीदें थीं। लेकिन उनका विकेट का खाता भी नहीं खुला।

मुंबई ने जीत के साथ लगाया खिताब का पंच

मुंबई का यह पाँचवां खिताब है। इससे पहले मुंबई ने 2013 में चेन्नई सुपरकिंग्स को 23 रन से हराया था। 2015 में चेन्नई को 41रन, 2017 में  मुंबई ने राइजिंग सुपर जाइंट को रोमांचक मुकाबले में 1 रन, 2019 में भी मुंबई ने चेन्नई को एक रन से शिकस्त दी थी। इसी के साथ जो मुंबई के खिताब जीतने का जो विषम वर्षों का सिलसिला चला आ रहा था। वह सिलसिला इस जीत के साथ खत्म हो गया है।

✍️ सूर्याकांत शर्मा

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे