गाबा टेस्ट में भी रोहित शर्मा ने जमने के बाद फेंका विकेट - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

रविवार, 17 जनवरी 2021

गाबा टेस्ट में भी रोहित शर्मा ने जमने के बाद फेंका विकेट

 गाबा टेस्ट. भारत ने ऑस्ट्रेलिया को पहली पारी में 369 में समेट दिया. फिर बारी आई बल्लेबाजी की. शुभमन गिल और रोहित शर्मा क्रीज़ पर आए. सिडनी टेस्ट में दोनों ने भारत को अच्छी शुरुआत दी थी. उम्मीदें बढ़ी हुई थीं. लेकिन इस बार भारतीय सलामी जोड़ी उम्मीदों पर खरी नहीं उतर पाई।


Rohit sharma

सातवें ओवर की दूसरी ही गेंद पर शुभमन गिल आउट हो गए. उन्हें पैट कमिंस की गेंद पर स्टीव स्मिथ ने लपका. दूसरी स्लिप में कैचआउट होने से पहले गिल महज सात रन ही बना सके. हालांकि दूसरे छोर पर रोहित अच्छी लय में दिख रहे थे. उन्होंने चेतेश्वर पुजारा के साथ मिलकर दूसरे विकेट के लिए 53 रन जोड़े भी


रोहित पर भड़के गवास्कर

लेकिन तभी 60 के टोटल पर कुछ ऐसा कर गए जिसपर किसी को भरोसा नहीं हुआ. भारत की पारी का 20वां ओवर. नाथन लायन का तीसरा. ओवर की तीसरी बॉल पर रोहित ने बैकफुट पर जाकर खूबसूरत चौका जड़ा. अगली गेंद डॉट रही. अब आई ओवर की पांचवी गेंद. रोहित ने पहले ही इसे उड़ाने का मन बना लिया था. वह आगे की तरफ भागे लेकिन लायन ने उन्हें फ्लाइट से चकमा दे दिया


 रोहित बॉल की पिच तक नहीं पहुंच पाए. हालांकि इसके बावजूद उन्होंने बॉल को हवा में उछा दिया. लॉन्ग ऑन पर उठी इस बॉल को मिचेल स्टार्क ने आसानी से लपक रोहित को वापसी की राह दिखा दी. रोहित का आउट होने का तरीका बेहद निराशाजनक था. क्रिकेट फैंस के साथ-साथ क्रिकेट के दिग्गज भी इस पर भड़कने से खुद को नहीं रोक पाए. चैनल सेवेन के लिए कॉमेंट्री कर रहे सुनील गावस्कर ने रोहित के आउट होने के तरीके पर अपनी कॉमेंट्री में कहा

क्यों, क्यों, क्यों? यह एक अविश्वसनीय शॉट है. यह एक गैर-जिम्मेदाराना शॉट है. लॉन्ग-ऑन पर फील्डर लगा है. डीप स्क्वॉयर लेग पर फील्डर लगा है. आपने कुछ ही गेंद पहले एक बाउंड्री मारी है. आप ये शॉट क्यों खेलेंगे? आप एक सीनियर प्लेयर हैं. इसका कोई बहाना नहीं हो सकता. इस शॉट का कोई भी बहाना नहीं है।

इसको देखिए तो. एकदम आसान कैच. उसके (स्टार्क) के बड़े-बड़े हाथ हैं. वह उसे मिस नहीं करेगा. एक बेवजह का विकेट, एक बेवजह का विकेट गिफ्ट कर दिया गया… बर्बादी है ये विकेट की. यह टेस्ट मैच क्रिकेट है. आपको स्टार्ट करने के बाद इसे बड़ी सेंचुरी में बदलना होता है. खासतौर से तब, जबकि सामने वाली टीम ने 369 रन बना दिए हों.

✍️शुभम सिंह



कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

अपना सुझाव यहाँ लिखे