मधुबनी में करणी सेना का तांडव, गांव पर हमला कर घरों में आग लगाया, भाग खड़ी हुई पुलिस - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

शुक्रवार, 9 अप्रैल 2021

मधुबनी में करणी सेना का तांडव, गांव पर हमला कर घरों में आग लगाया, भाग खड़ी हुई पुलिस

 मधुबनी हत्याकांड के बाद शुक्रवार को करणी सेना के उत्पात ने इलाके में सामाजिक तनाव बढ़ा दिया है. करणी सेना के समर्थकों ने आज गैवापुर गांव पर हमला कर दिया. लोगों से मारपीट के बाद घरों में आग लगा दी गयी. करणी सेना के हमले के दौरान वहां तैनात पुलिस के जवान औऱ अधिकारी गांव छोड़ कर भाग खड़े हुए.


Karani sena attack on mahamadppur madhubani


पहले ही कहा था कि हम खुद इंसाफ कर लेंगे


दरअसल राजस्थान से आये करणी सेना के अध्यक्ष महिपाल सिंह मकराना ने कल ही कहा था कि मधुबनी के महमदपुर हत्याकांड का इंसाफ वे खुद कर लेंगे. आज सैकडों गाडियों के काफिले के साथ करणी सेना के लोग महमदपुर गांव पहुंचे. वहां हत्याकांड के शिकार बने परिवार से मुलाकात की. उसके बाद करणी सेना समर्थकों ने बगल के गैवापुर गांव पर हमला बोल दिया.


गांव में मारपीट-आगजनी

दरअसल गैवापुर गांव के रहने वाले प्रवीण झा को ही इस हत्याकांड का मुख्य अभियुक्त बनाया गया है. पुलिस उसके घर को कुर्क कर ध्वस्त कर चुकी है. प्रवीण झा को गिरफ्तार भी किया जा चुका है. करणी समर्थकों ने गैवापुर गांव पर हमला कर दिया औऱ वहां जमकर तांडव मचाया. करणी सेना समर्थकों ने गांव के एक घर में आग लगा दिया. इस दौरान वहां मौजूद लोगों के साथ मारपीट भी की गयी.


Karani sena



ग्रामीणों ने बताया कि करणी सेना ने जब हमला किया तो वहां तैनात पुलिस के जवान औऱ अधिकारी भाग खडे हुए. करणी सेना समर्थकों ने जमकर उत्पात मचाया औऱ फिर वहां से निकल गये. उनके जाने के बाद पुलिस ने फायर ब्रिगेड को खबर किया. फायर ब्रिगेड के दस्ते ने आकर आग पर काबू पाया. स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि जिस घर में आग लगायी गयी वह घऱ चंद्रशेखर मिश्र नाम के आदमी का है. चंद्रशेखर मिश्र का इस हत्याकांड से कोई लेना देना नहीं है.


Madhubani narsanhar

सामाजिक तनाव फैलने की आशंका

करणी सेना के उत्पात के बाद इलाके में सामाजिक तनाव फैलने की आशंका व्याप्त हो गयी है. लाख कोशिशों के बावजूद मधुबनी के महमदपुर हत्याकांड को लेकर जातीय तनाव नहीं बना था. लेकिन इस उत्पात के बाद लोगों में गुस्सा है. लोगों ने नीतीश सरकार को भी जमकर कोसा है.

उपर्युक्त बातें आरोप है जो की आगजनी से पीड़ित और कुछ ग्रामीणों द्वारा बताया गया है. आगे जांच के बाद ही सच सामने आ पाएगा

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

अपना सुझाव यहाँ लिखे