इंस्पेक्टर के बॉडीगार्ड की पुलिसगिरी, मूर्ति देखने गए युवक को बेरहमी से मारा - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

शनिवार, 16 अक्तूबर 2021

इंस्पेक्टर के बॉडीगार्ड की पुलिसगिरी, मूर्ति देखने गए युवक को बेरहमी से मारा

 समाज में पुलिस की जीम्मेवारी लोगों की रक्षा करना है. पुलिस के मौजूदगी में भय का माहौल खत्म होना चाहिए. लेकिन जब पुलिस ही दादागिरी पर उतर जाए तो फिर क्या कहने. जब रक्षक ही बेरहमी से मारपीट कर कानून को हाथ में लेने लगे तो फिर उनसे रक्षा की उम्मीद करना बेईमानी ही होगा. पूर्वी चंपारण के ढाका थाना क्षेत्र का मामला सामने आया है जिसमें ढाका थाना के इंस्पेक्टर के बॉडीगार्ड ने एक युवक से मारपीट किया है.


Dhaka police behave rudly

युवक ने बताया की वह कल रात मूर्ति दर्शन करने. ढाका पूजा पंडाल गया था. पंडाल में एक जगह रुकने पर इंस्पेक्टर के बॉडीगार्ड ने हट जाने को कहा चुकी पंडाल में बहुत भीड़ था. इसलिए मैं धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा था. तब तक वह मुझ पर टूट पड़े बुरी तरीके से मेरे साथ मारपीट की गई. कुर्सी तक मार के तोड़ दिया गया मुझ पर. मैं खुद को बचाने का गुहार लगाते रहा लेकिन किसी सिपाही या मौजूद वरीय पदाधिकारियों ने बचाने का कोशिश भी नहीं किया.



गौतम नामक इस युवक को काफ़ी चोट आई है. हाथ से खून तक आने लगा था. युवक का इलाज रेफरल अस्पताल ढाका में कराया गया. अब इस को ले कर ढाका के युवाओं में आक्रोश व्याप्त है. सब न्याय की मांग कर रहे. एवं बॉडीगार्ड के ऊपर उचित करवाई का मांग भी उठने लगा है.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे