छात्रों के लगातार विरोध प्रदर्शन के बाद रेल मंत्रालय ने NTPC और लेवल-1 परीक्षा किया स्थगित - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

बुधवार, 26 जनवरी 2022

छात्रों के लगातार विरोध प्रदर्शन के बाद रेल मंत्रालय ने NTPC और लेवल-1 परीक्षा किया स्थगित

 रेलवे बोर्ड ने एनटीपीसी और लेवल -1 की परीक्षा स्थगित कर दी है। परीक्षार्थियों द्वारा लगातार किये जा रहे विरोध के बाद रेलवे का ये फैसला आया है। परीक्षार्थियों की शिकायतों की जांच के लिए समिति बनाई गई है। ये समिति परीक्षार्थियों की जो भी आपत्तियां है उसे सुनेगी और विचार कर रिपोर्ट रेल मंत्रालय को सौपेगी।


RRB NTPC Result protest

आपको बता दें कि RRB NTPC परीक्षा के आये रिजल्ट के खिलाफ बीते तीन दिनों से परीक्षार्थी आंदोलन कर रहे थे। जिसका असर सोमवार को बिहार में पटना के राजेन्द्र नगर टर्मिनल रेलवे स्टेशन पर दिखा। जहाँ काफी संख्या में परीक्षार्थियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान रेलवे स्टेशन पर काफी वक्त तक रेल सेवा बाधित रही। अंत में पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान पूरा रेलवे स्टेशन रण क्षेत्र में तब्दील रहा। इसके अलावा आरा,बक्सर,नवादा में भी परीक्षार्थियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। यहाँ तक कि नवादा रेलवे स्टेशन की दो किलोमीटर तक पटरियों की क्लिप भी खोल दी गई और स्टेशन पर 5 घंटे तक जमकर बवाल मचा।

रेलवे बोर्ड ने एनटीपीसी और लेवल -1 की परीक्षा स्थगित कर दी है। परीक्षार्थियों द्वारा लगातार किये जा रहे विरोध के बाद रेलवे का ये फैसला आया है। परीक्षार्थियों की शिकायतों की जांच के लिए समिति बनाई गई है। ये समिति परीक्षार्थियों की जो भी आपत्तियां है उसे सुनेगी और विचार कर रिपोर्ट रेल मंत्रालय को सौपेगी। आपको बता दें कि RRB NTPC परीक्षा के आये रिजल्ट के खिलाफ बीते तीन दिनों से परीक्षार्थी आंदोलन कर रहे थे। जिसका असर सोमवार को बिहार में पटना के राजेन्द्र नगर टर्मिनल रेलवे स्टेशन पर दिखा। जहाँ काफी संख्या में परीक्षार्थियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान रेलवे स्टेशन पर काफी वक्त तक रेल सेवा बाधित रही। अंत में पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इस दौरान पूरा रेलवे स्टेशन रण क्षेत्र में तब्दील रहा। 


RRB NTPC Student protest


इसके अलावा आरा,बक्सर,नवादा में भी परीक्षार्थियों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। यहाँ तक कि नवादा रेलवे स्टेशन की दो किलोमीटर तक पटरियों की क्लिप भी खोल दी गई और स्टेशन पर 5 घंटे तक जमकर बवाल मचा। छात्रों में क्यों है गुस्सा ? छात्रों का कहना है कि सात लाख परीक्षार्थियों को पास किया जाना चाहिए न कि सात लाख रॉल नंबर को। हालांकि इस पर रेलवे की सफाई आ चुकी है रेलवे बोर्ड के द्वारा कहा गया है कि कानून के अनुसार एक अभ्यर्थी को एक से अधिक पदों के लिए आवेदन करने से रोका नहीं जा सकता है। आरआरबी एनटीपीसी के 35000 पदों की ली गई परीक्षा का परिणाम 14 जनवरी को जारी किया गया था। जिसमें CBT-2 के लिए 7,05,466 अभ्यर्थियों को चुना गया है। छात्रों का कहना है कि पहले एक पद के लिए दस उम्मीदवार अब 10 पद के लिए एक उम्मीदवार छात्रों का


छात्रों में क्यों है गुस्सा ?

छात्रों का कहना है कि सात लाख परीक्षार्थियों को पास किया जाना चाहिए न कि सात लाख रॉल नंबर को।हालांकि इस पर रेलवे की सफाई आ चुकी है रेलवे बोर्ड के द्वारा कहा गया है कि कानून के अनुसार एक अभ्यर्थी को एक से अधिक पदों के लिए आवेदन करने से रोका नहीं जा सकता है। 

आरआरबी एनटीपीसी के 35000 पदों की ली गई परीक्षा का परिणाम 14 जनवरी को जारी किया गया था। जिसमें CBT-2 के लिए 7,05,466 अभ्यर्थियों को चुना गया है। छात्रों का कहना है कि पहले एक पद के लिए दस उम्मीदवार अब 10 पद के लिए एक उम्मीदवार छात्रों का इससे तो सिर्फ 4 से 5 प्रतिशत ही परीक्षार्थी चयनित हो पाए जबकि रेलवे ने अपनी नोटिफिकेशन में 20 प्रतिशत छात्रों के चयन की बात कही थी। जिसके बाद परीक्षार्थीयों ने लगातार विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया।


✍️सूर्याकांत शर्मा


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे