एक ऐसा IPS ऑफिसर जो मॉडल से कम नहीं, Big Boss का ठुकरा चुके है न्योता - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

शनिवार, 29 जनवरी 2022

एक ऐसा IPS ऑफिसर जो मॉडल से कम नहीं, Big Boss का ठुकरा चुके है न्योता

 सचिन अतुलकर का जन्म 8 अगस्त 1984 को हुआ था और वर्तमान में उनकी उम्र 36 वर्ष है। सचिन अतुलकर की पोस्टिंग इस समय उज्जैन में है और उनका आईपीएस रैंक एक सुपरिटेंडेंट का है। आज भी सचिन अतुलकर अपने परिवार के सदस्यों को हमेशा प्रशासनिक सेवाओं में जाने के लिए प्रेरित करते हैं। 

उनका कहना है कि मेरे पिता (सचिन अतुलकर पिता) भारतीय वन सेवा के अधिकारी थे, जो सेवा से सेवानिवृत्त हैं, और उनका भाई भारतीय सेना में है।

कहा जाता है कि सचिन अतुलकर ने अभी तक शादी नहीं की है यानी उनकी कोई पत्नी नहीं है।


                       सचिन अतुलकर


बीकॉम करने के बाद बने IPS ऑफिसर

उन्होंने बीकॉम किया है। जब उन्होंने स्नातक की पढ़ाई पूरी की तो उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी और अपने पहले प्रयास में इसे पास कर लिया। 2006 में उनकी अखिल भारतीय रैंक 258 थी। 


 

खुद को फिट रखने के लिए जिम मे बिताते है काफी समय

वह रोजाना करीब 1 घंटे से ज्यादा समय जिम में बिताते हैं। अपनी फिटनेस के प्रति उनकी कड़ी मेहनत के कारण ही वह इतने प्रसिद्ध हैं। उनका फिटनेस लेवल काफी इंस्पायरिंग है।


हालांकि वह फिटनेस में यकीन रखते हैं, लेकिन उनके लिए उनका काम ज्यादा महत्वपूर्ण है। वह अपने दिमाग को भी फिट रखने के लिए नियमित रूप से योग करते हैं।

हमेशा देखने को मिलता है आईपीएस अफसर सचिन अतुलकर किसी सेलेब्रिटी से कम नहीं हैं , वो असल मे रियल लाइफ हीरो हैं, लेकिन वो हमेशा खुद को एक साधारण इंसान मानते हैं। चूंकि वह एक IPS अधिकारी हैं, इसलिए सचिन अतुलकर अपनी फिटनेस को लेकर बहुत सजग रहते है। 


                        सचिन अतुलकर


सरल तथा शांत स्वभाव के अधिकारी है

सचिन अतुलकर के बारे में कहा जाता है कि यह अपने आप में काफी शांत स्वभाव के अधिकारी है। आम लोग इनसे मिल कर अपनी बातों को इनके सामने रखते है और यह उनकी बातों को बड़ी शालीनता और प्यार से गौर भी करते हैं। वर्तमान समय में सचिन अतुलकर के इंस्टाग्राम पर 7 लाख 80 हजार से भी अधिक फॉलोअर्स है उनके इंस्टाग्राम पर ब्लूटीक भी मिल चुका है। सचिन अतुलकर के twitter पर भी तकरीबन 18 हजार फॉलोअर्स है। 


क्रिकेट और घुड़सवारी मे काफी दिलचस्पी है उनकी

सचिन बचपन से ही खेलों के प्रति उत्साहीत रहे हैं। वह 1999 में राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेटर थे।


उन्होंने घुड़सवारी के लिए एक पुलिस अकादमी में स्वर्ण पदक भी जीता है। IPS ज्वाइन करने के बाद से ही घुड़सवारी के प्रति उनका प्यार विकसित हो गया था।


सचिन अतुलकर का मानना है अपने आप पर यकीन रखे अनुशासित रहें ,मानसिक और शारीरिक फिट हो और कड़ी मेहनत करे।



अमृत राज की रिपोर्ट

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे