जनता दरबार में सीएम नीतीश कुमार सुन रहे फरियाद, छात्रा की शिकायत पर अफसर को लगाया फोन - Bihari karezza - Khabre Bihar Ki

Breaking

सोमवार, 14 फ़रवरी 2022

जनता दरबार में सीएम नीतीश कुमार सुन रहे फरियाद, छात्रा की शिकायत पर अफसर को लगाया फोन

 


जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम इस सोमवार यानी 14 फरवरी से पुन आरंभ हो गया है। तीन जनवरी को आखिरी बार जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम हुआ था। उस दिन एक दर्जन से अधिक लोग एंटीजन जांच के क्रम में कोरोना संक्रमित पाए जनता के दरबार में मुख्यमंत्री (Janata ke Darbar Me Mukhyamantri) कार्यक्रम शुरू हो गया है। इसमें सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) अलग-अलग मामलों की सुनवाई कर रहे हैं। जनता दरबार शुरू होने के बाद वित्‍तरहित कालेज, स्‍टूडेंट क्रेडिट कार्ड आदि की समस्‍याओं को लेकर लोग पहुंच रहे हैं। स्‍टूडेंट क्रेडिट कार्ड के लिए अधिक ब्‍याज वसूलने की शिकायत मिलने पर सीएम ने गंभीरता दिखाई। उन्‍होंने अधिकारी को कॉल कर कहा कि बैंक वाला इतना ब्‍याज वसूल रहा है। इसको देखवाइए। मुंगेर से आई एक स्‍नातक पास छात्रा ने कहा कि 2019 में ग्रेजुएशन किए लेकिन स्‍नातक प्रोत्‍साहन योजना की राशि नहीं मिली। सीएम ने संबंधित अधिकारी को फोन लगाकर कार्रवाई का निर्देश दिया। बता दें कि महीने के दूसरे सोमवार को स्‍वास्‍थ्‍य, शिक्षा, पिछड़ा-अतिपिछिड़ा, समाज कल्‍याण आदि से जुड़ी शिकायतें सीएम सुनते हैं। 

तीन जनवरी के बाद से स्‍थगित था जनता दरबार 

तीन जनवरी को आखिरी बार जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम हुआ था। उस दिन जांच के क्रम में एक दर्जन से अधिक लोग एंटीजन जांच के क्रम में कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसके बाद पांच जनवरी को कोरोना का प्रसार बढ़ जाने की वजह से जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम स्थगित किए जाने का निर्णय लिया गया था। मामले कम होने के बाद हाल ही में यह निर्णय लिया गया कि 14 फरवरी से जनता के दरबार में मुख्यमंत्री कार्यक्रम पुन: आरंभ किया जाएगा। दूसरे सोमवार के लिए तय कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री पिछड़ा एवं अति पिछड़ा कल्याण, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, सूचना प्रावैधिकी, कला संस्कृति एवं युवा, वित्त, श्रम संसाधन व सामान्य प्रशासन विभाग से जुड़ी शिकायतों को सुन रहे हैं। जनता दरबार में आने वालों को पूरी जांच के बाद ही प्रवेश मिल रहा है। उनके लिए टीका की दोनों डोज भी जरूरी कर दी गई हे। 


....✍️ प्रतिभा सिंह

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अपना सुझाव यहाँ लिखे